भारत के किस शहर को कहा जाता है Steel City, जानें

भारत देश में विभिन्न शहरों का अपना महत्व है। इन महत्व के बीच कई शहर अपनी अलग-अलग विशेषताओं के लिए वैश्विक स्तर पर भी पहचाने जाते हैं।

भारत के विभिन्न शहरों के बारे में जानने की इस सीरिज में इस लेख के माध्यम से हम आपको भारत के एक नए शहर से रूबरू करवाएंगे। क्या आपको पता है कि भारत के एक शहर को Steel City के नाम से जाना जाता है।

यदि नहीं, तो इस लेख के माध्यम से हम आपको भारत के इस शहर के बारे में बताएंगे। इसके साथ ही इस शहर के इतिहास से भी रूबरू करवाएंगे। जानने के लिए यह पूरा लेख पढ़ें। 

 

भारत के किस शहर को कहा जाता है Steel City

आपको बता दें कि भारत के झारखंड राज्य के जमशेदपुर शहर को स्टील सिटी के नाम से भी जाना जाता है। इस शहर में स्टील का अधिक उत्पादन किया जाता है।

 

तीसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश था भारत

भारत 2014 से 2016 तक पूरी दुनिया में स्टील का तीसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश था। भारत की ओर से 91.46 मिलियन टन स्टील का निर्यात किया गया था।

आपको बता दें कि भारत में झारखंड के अलावा पश्चिम बंगाल, ओडिसा और कर्नाटक में भी स्टील का उत्पादन किया जाता है।

 

जमेशदपुर क्यों है Steel City

भारत में वैसे तो अलग-अलग शहरों में स्टील का उत्पादन किया जाता है, हालांकि जमदेशदुपर को ही स्टील सिटी कहा जाता है। इसके पीछे के कारण की बात करें, तो आपको बता दें कि टाटा कंपनी की ओर से अपना पहला स्टील प्लांट इसी शहर में लगाया गया था।

See also  Horoscope for Monday, September 11: predictions for love, money, health and work

उस समय यह एक सिर्फ छोटा से गांव हुआ करता था, जो कि वर्तमान में एक बड़े और अच्छी तरह से नियोजित शहर का रूप ले चुका है। 

 

क्या है भारत की Steel City की कहानी

भारत में उद्योग के पिता यानि Father of Indian Industry कहे जाने वाले जमशेदजी टाटा ने साल 1900 में झारखंड के सक्ची गांव को औद्योगिक सेक्टर में बदलने की सोची। उस समय यहां पर घना जंगल हुआ करता था। 

 

उन्होंने टाट स्टील का पहला प्लांट यहां स्थापित किया और इसमें उनकी अमेरिका के जियोलॉजिस्ट चार्ल्स पेरिन ने मदद की। साल 1917 तक यहां पर करीब 50,000 लोग रहने लगे और स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिलने लगा। 

 

दुनिया में जब पहला विश्व युद्ध छिड़ा, तो टाटा स्टील की ओर से उस समय बड़ी मात्रा में कच्चा स्टील उपलब्ध कराया गया था। इसके साथ ही उस समय रेलवे के विकास में भी टाटा स्टील ने अपना योगदान दिया था। 

 

कैसे पड़ा शहर का नाम जमशेदपुर

साल 1917 में भारत के तत्कालीन गवर्नर जनरल और वाइसरॉय चेम्सफोर्ड ने निदेशक बंगले से एक भाषण दिया, जिसमें उन्होंने स्टील उद्योग में टाटा के योगदान को देखते हुए सक्ची गांव को जमशेदुपर नाम दिया।

इसके बाद से झारखंड का यह शहर पूरी दुनिया में जमशेदपुर के नाम से मशहूर हो गया। 

 

पढ़ेंः दुनिया के किस शहर को बोला जाता है Leather City, जानें

Categories: Trends
Source: vcmp.edu.vn

Leave a Comment